Rajasthan Crime News: सोते समय देवर ने की भाभी की हत्या, बड़े भाई को उतारा मौत के घाट, पत्नी की हत्या के मामले में काट चुका है दस साल की सजा

0
14
Rajasthan Crime News
Rajasthan Crime News

Rajasthan Crime News: सुबह संतोष खुद अपने तीसरे भाई चंपालाल विश्नोई की झोपड़ी में गया और अपने भतीजों को इस जघन्य हत्याकांड के बारे में बताया.

Rajasthan Crime News: बीकानेर जिले के सेरूणा थाना क्षेत्र के सावंतसर गांव में शुक्रवार रात घरेलू रंजिश के चलते एक छोटे भाई ने अपने बड़े भाई और भाभी पर जानलेवा हमला कर दिया. हमले में भाभी की मौके पर ही मौत हो गई. वहीं, बड़े भाई को गंभीर हालत में बीकानेर के पीबीएम अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

सावंतसर गांव में शुक्रवार रात को आरोपी का बड़ा भाई मोहनलाल और उसकी पत्नी सुशीला घर पर ताला लगाकर बाखल में चारपाई पर सो रहे थे। रात करीब 11 बजे आरोपी संतोष विश्नोई ने उस पर डंडे से हमला कर दिया। सुबह संतोष खुद अपने तीसरे भाई चंपालाल विश्नोई की झोपड़ी में गया और अपने भतीजों को इस जघन्य हत्याकांड के बारे में बताया.

भाभी दम तोड़ चुकी थी, भाई ले रहा था गहरी सांसे

जब तक परिजन दौड़कर मोहनलाल के घर पहुंचे, तब तक सुशीला की मौत हो चुकी थी। मोहनलाल जोर-जोर से साँस ले रहा था। चंपालाल के बेटे ओम प्रकाश ने इसकी सूचना मृतक सुशीला के बेटे राकेश को दी, जो पंजाब से ट्रक लेकर लौट रहा था। साथ ही मोहनलाल को लेकर सेरूणा होते हुए बीकानेर पीबीएम अस्पताल पहुंचे। वहां मोहनलाल का इलाज शुरू हुआ. इस संबंध में मृतक के पुत्र राकेश की रिपोर्ट पर उसके चाचा संतोष विश्नोई के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. मामले की जांच एसआई मलकीयत सिंह को सौंपी गई है।

घरेलू विवाद मौत का कारण बनता है।

गांव के किसी भी व्यक्ति ने यह कल्पना नहीं की थी कि मामूली विवाद का इतना भयानक परिणाम होगा। बताया जा रहा है कि आरोपी जीजा और उसकी भाभी सुशीला के बीच अक्सर विवाद होता था. घटनास्थल पर चारपाई के पास शराब की बोतलें भी मिलीं। खाटें खून से सनी हुई थीं।

आरोपी ने अपनी पत्नी की हत्या में दस साल गुजारे हैं.

भाभी की हत्या और भाई पर जानलेवा हमला करने का आरोपी संतोष पत्नी की हत्या के आरोप में दस साल जेल की सजा काट चुका है। तीन साल पहले स्थाई पैरोल पर बाहर आया था।

गांव से कटा हुआ था परिवार

एएसआई चंदन के अनुसार सांवतसर गांव के श्रवण कुमार विश्नोई के तीन बेटे हैं। इनमें से संतोष कुमार अपनी पत्नी की हत्या जैसे मामले में जेल की हवा खा चुका है. झगड़ालू स्वभाव के कारण परिवार गांव से भी कट गया था। घटना की जानकारी मिलते ही श्रीडूंगरगढ़ सीओ निकेत पारीक पहुंचे और मौका मुआयना किया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here