नागौर मे समारोह पूर्वक हुआ मानासर फाटक पर रेलवे ओवरब्रिज का शिलान्यास

0
33

कामयाब कलम रिपोर्टर
नागौर। शहर के मानासर रेलवे फाटक पर रेलवे ओवरब्रिज का शिलान्यास गुरुवार केन्द्रीय राज्यमंत्री सीआर चौधरीके आतिथ्य में समारोह पूर्वक हुआ। समारोह में जिला प्रभारी मंत्री बंशीधर बाजिया,माटी कला बोर्ड के अध्यक्ष हरीश कुमावत,नागौर विधायक हबीबुर्रहमान, जायल विधायक मंजू बाघमार, मकराना विधायक श्रीराम भींचर, जिला कलक्टर कुमार गौतमपाल,जिला पुलिस अधीक्षक परिस देशमुख,भाजपा प्रदेश मंत्री सरोज प्रजापत, भाजपा नेता जगवीर छाबा, अर्जुनराम मेहरिया, महावीरसिंह सांदू, उम्मेदसिंह राजपुरोहित, हरिराम लोमरोड़ समेत भाजपा पदाधिकारी और गणमान्यजन मौजूद थे। जिला सूचना एवं जन संपर्क अधिकारी ने यह जानकारी देते हुए बताया कि 29 करोड़ 23 लाख रुपए के बजट से मानासर फाटक पर आरओबी के साथ लिमिटेड हाइट सब-वे (एलएचएस) भी बनेगा, जहां से छोटे वाहन गुजर सकेंगे। आरओबी व एलएचएस बनने के बाद मानासर पर बार-बार फाटक बंद होने से लगने वाले जाम से निजात मिलेगी। मानासर फाटक आरओबी की लम्बाई 1173 मीटर होगी यानी कॉलेज रोड से जोधपुर रोड की तरफ बनने वाला आरओबी एक किलोमीटर 173 मीटर लम्बा तथा 11 मीटर चौड़ा होगा। आरओबी का पूरा बजट केन्द्र सरकार की ओर से दिया गया है। मानासर फाटक पर बनने वाले आरओबी के साथ एक एलएचएस भी बनाया जाएगा। दरअसल, एलएचएस, अंडरब्रिज का छोटा रूप है, जिससे दुपहिया व छोटे वाहन निकल सकेंगे। मानासर फाटक पर बनने वाला आरओबी कॉलेज रोड से शुरू होकर जोधपुर रोड की ओर जाएगा, ऐसे में कलक्ट्रेट की ओर से जाने वाले वाहन चालकों को परेशानी न हो, इसके लिए विभागीय अधिकारियों ने इसकी विशेष अनुमति ली है। आरओबी बनने से मानासर फाटक पर बार-बार लगने वाले जाम से भी निजात मिलेगी। दरअसल, मेड़ता रोड से बीकानेर की ओर जाने व आने वाली रेलों की संख्या 24 घंटे में दो दर्जन से अधिक है और ज्यादातर रेलों का नागौर रेलवे स्टेशन पर ठहराव है। इसके साथ मालगाडिय़ां भी यहां से निकलती है, जिसके कारण दिन-रात में 5 से 7 घंटे तक फाटक बंद रहती है। आरओबी बनने के बाद इससे निजात मिल जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here