कोर्ट मार्शल से बेहतर तो मर जाना है - मृतक जवान रॉय मैथ्यू

एनएनआई दिल्ली:-सेना के जवान रॉय मैथ्यू के खुदकुशी मामले की गुत्थी सुलझ सकती है. दरअसल, उनके पास से एक डायरी मिली है, जिसमें लिखा है कि कोर्ट मार्शल से बेहतर तो मर जाना है. जवान की इस डायरी को सुसाइड नोट माना जा रहा है.

मैथ्यू ने इस डायरी में अपनी पत्नी और परिवार के लोगों से माफी भी मांगी है. जानकारी के मुताबिक खुदकुशी से पहले मैथ्यू ने अपनी पत्नी से फोन पर बात भी की थी. पुलिस डायरी में लिखी बातों की जांच कर रही है. गौरतलब है कि समाचार चैनल के स्टिंग ऑपरेशन में अधिकारियों पर प्रताड़ित करने का आरोप लगा चुके मैथ्यू का शव गुरुवार को महाराष्ट्र के छावनी इलाके में एक सूनसान जगह पर पड़ा मिला था. सेना का कहना है कि जवान ने मराठी समाचार चैनल द्वारा किए गए स्टिंग ऑपरेशन में अधिकारियों पर आरोप लगाने के कारण 'अपराध-बोध' के चलते खुदकुशी कर ली. पुलिस स्टिंग करने वाले पत्रकार से भी पूछताछ कर सकती है.

सेना ने बयान जारी कर कहा है कि प्रारंभिक जांच में पता चला है कि जवान की जानकारी के बगैर मीडियकर्मियों द्वारा सवाल पूछने के दौरान जवान का वीडियो बना लिया गया. उन्होंने कहा, ऐसा प्रतीत होता है कि अधिकारियों की आलोचना करने या एक अज्ञात व्यक्ति को झूठी बातें बताने के अपराध-बोध ने जवान को ऐसा कदम उठाने के लिए मजबूर कर दिया.

स्टिंग ऑपरेशन का वीडियो वायरल होने के बाद से ही मैथ्यू छावनी में अपने शिविर से गायब थे. स्टिंग ऑपरेशन में मैथ्यू ने जूनियर स्तर के जवानों को सहायक बताया था और कहा था कि उन्हें अपने वरिष्ठ अधिकारियों की व्यक्तिगत कार्य करने के लिए मजबूर किया जाता है.